न्यूयॉर्क। भारत में धनकुबेरों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। अमेरिकी पत्रिका फोर्ब्स के धनकुबेरों की सूची में इस साल भारत के 119 अमीरों को जगह मिली है। पिछले साल के मुकाबले इसमें 18 भारतीय ज्यादा हैं। सूची में उन अमीरों को जगह दी गई है, जिनकी संपत्ति एक अरब डॉलर (करीब 6,500 करोड़ रुपये) से ज्यादा है।

इस साल की सूची में 110 अरब डॉलर (करीब 7.15 लाख करोड़ रुपये) मूल्य की संपत्ति के साथ ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन के मालिक जेफ बेजोस पहले स्थान पर रहे हैं। उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट के सह संस्थापक बिल गेट्स को पछाड़ा है। भारतीयों में सबसे अमीर का ताज मुकेश अंबानी के सिर पर सजा है। उनके पास कुल 40.1 अरब डॉलर (करीब 2.61 लाख करोड़ रुपये) की संपत्ति है। वैश्विक सूची में उन्हें 19वें स्थान पर रखा गया है। पेटीएम के संस्थापक विजय शेखर शर्मा सबसे कम उम्र के भारतीय धनकुबेर बने हैं। कुल 2,043 लोगों की वैश्विक सूची में उन्हें 1,394वें स्थान पर जगह मिली है। उनकी कुल संपत्ति 1.7 अरब डॉलर (करीब 11 हजार करोड़ रुपये) की है। नवंबर, 2017 में हुई नोटबंदी के बाद पेटीएम के ग्राहकों की संख्या में जबर्दस्त उछाल आया था।

सूची में आठ भारतीय महिलाएं

फोर्ब्स की सालाना सूची में कुल 256 महिलाओं को जगह मिली है। इनमें से आठ महिलाएं भारतीय हैं। भारतीय महिलाओं में 8.8 अरब डॉलर (करीब 57,100 करोड़ रुपये) की संपत्ति के साथ सावित्री जिंदल को सबसे ऊपर जगह मिली है। वैश्विक स्तर पर उन्हें 176वें स्थान पर रखा गया है। बायोकॉन की प्रमुख किरण मजूमदार शॉ को सूची में 629वां स्थान मिला है। अन्य भारतीय महिलाओं में स्मिता कृष्णा - गोदरेज, लीना तिवारी (यूएसवी इंडिया की प्रमुख), अनु आगा, शीला गौतम (शीला फोम की संस्थापक) और मधु कपूर शामिल हैं। इनके अलावा विनोद व अनिल राय गुप्ता को उनकी मां के साथ इस सूची में रखा गया है।

नीरव मोदी सूची से बाहर

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में अरबों के घोटाले के सूत्रधार हीरा कारोबारी नीरव मोदी को सूची के बाहर कर दिया गया है। पिछले साल 1.8 अरब डॉलर (करीब 11,700 करोड़ रुपये) की संपत्ति के साथ उसने सूची में जगह बनाई थी। हाल में नीरव पर पीएनबी के अधिकारियों की मिलीभगत से 12,000 करोड़ रुपये से ज्यादा के घोटाले का मामला सामने आया है।

विदेश